Categories Selfstudyhistory.com

UPPSC History Optional Test Series- 2020 [In Hindi and English] यूपीपीएससी इतिहास वैकल्पिक टेस्ट सीरीज- 2020 [हिंदी और अंग्रेजी में]

UPPSC History Optional Test Series- 2020 [In Hindi and English]

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग इतिहास वैकल्पिक टेस्ट सीरीज- 2020 [हिंदी और अंग्रेजी में]

FEATURES OF THE PROGRAM (कार्यक्रम की विशेषताएं)

1. Online Test Series (ऑनलाइन टेस्ट सीरीज)

  • Total number of Tests: 6 Full Tests (टेस्ट की कुल संख्या: 6 पूर्ण टेस्ट)
  • 6 Full Tests will be of 200 Marks each and 3 hours time limit. (6 पूर्ण टेस्ट प्रत्येक के 200 अंक और 3 घंटे की समय सीमा होगी।)
  • Dates of tests will be flexible. You can submit your tests any time and date till UPPSC Main Examination. (परीक्षणों की तारीखें लचीली होंगी। आप यूपीपीएससी मुख्य परीक्षा तक किसी भी समय और तारीखों पर अपनी परीक्षा दे सकते हैं।)
  • Questions in the test series will be asked as per new pattern in Hindi and English. (टेस्ट सीरीज़ में प्रश्न हिंदी और अंग्रेजी में नए पैटर्न के अनुसार पूछे जाएंगे।) 
  • Detailed syllabus for each test has been uploaded on this page. (इस पृष्ठ पर प्रत्येक परीक्षा के लिए विस्तृत पाठ्यक्रम अपलोड किया गया है।)
  • Mode of communication will be online. (संचार का तरीका ऑनलाइन होगा।)
  • On due date (नियत तिथि पर):
    • Question Paper, Answer Sheet and Detailed Solution will be sent to the enrolled students through email. (प्रश्न पत्र, उत्तर पुस्तिका और विस्तृत समाधान नामांकित छात्रों को ईमेल के माध्यम से भेजा जाएगा।)
    • You will have to send your answer sheet for evaluation in PDF format (you can use camscanner app). [आपको पीडीएफ प्रारूप में मूल्यांकन के लिए अपनी उत्तर पुस्तिका भेजनी होगी (आप कैमस्कैनर ऐप का उपयोग कर सकते हैं)।]
    • Evaluated answer sheet will be reverted back within 5 days. (मूल्यांकन की गई उत्तर पुस्तिका को 5 दिनों के भीतर वापस कर दिया जाएगा।)
  • Detailed and high quality solution of each test will be provided in Hindi and English. ( प्रत्येक टेस्ट का विस्तृत और उच्च गुणवत्ता वाला उत्तर हिंदी और अंग्रेजी में प्रदान किया जाएगा।)
  • Answer sheets will be evaluated with detailed feedback for improvement along with marking. (अंकन के साथ-साथ सुधार के लिए विस्तृत प्रतिक्रिया के साथ उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन किया जाएगा।)
  • All doubts will be clarified via email, whatsapp or phone. (सभी संदेह ईमेल, व्हाट्सएप या फोन के माध्यम से स्पष्ट किए जाएंगे। )
  • Personal guidance will be given for any clarification related to the preparation. (तैयारी से संबंधित किसी भी स्पष्टीकरण के लिए व्यक्तिगत मार्गदर्शन दिया जाएगा।)

2. Previous Years Solved Questions of UPPSC (Topic wise) [पिछले वर्षों के प्रश्न यूपीपीएससी (विषयवार)]

  • Access to the solution of previous years’ history optional questions (topic wise) of BPSC will be provided. (यूपीपीएससी के पिछले वर्षों के इतिहास वैकल्पिक प्रश्नों के  विषयवार उत्तर प्रदान की जाएगी।)

SCHEDULE FOR TESTS [Dates are flexible]

टेस्ट के लिए अनुसूची [तिथियाँ लचीली हैं]

1. Full Test I: Ancient India: 200 Marks (180 Minutes Duration): 25 June, 2020

पूर्ण टेस्ट I: प्राचीन भारत: 200 अंक (180 मिनट की अवधि)

2. Full Test II: Medieval India: 200 Marks (180 Minutes Duration): 5 July, 2020

पूर्ण टेस्ट II: मध्यकालीन भारत: 200 अंक (180 मिनट अवधि)

3. Full Test III: Modern India: 200 Marks (180 Minutes Duration): 15 July, 2020

पूर्ण टेस्ट III: आधुनिक भारत: 200 अंक (180 मिनट अवधि)

4. Full Test IV: World History: 200 Marks (180 Minutes Duration): 25 July, 2020

पूर्ण टेस्ट IV: विश्व इतिहास: 200 अंक (180 मिनट अवधि)

5. Full Test V: Ancient India + Medieval India (Mock Test): 200 Marks (180 Minutes Duration): 5 August, 2020

पूर्ण टेस्ट V: प्राचीन भारत + मध्यकालीन भारत (मॉक टेस्ट): 200 अंक (180 मिनट अवधि)

6. Full Test VI: Modern India + World History (Mock Test): 200 Marks (180 Minutes Duration): 10 August, 2020

पूर्ण टेस्ट VI: आधुनिक भारत + विश्व इतिहास (मॉक टेस्ट): 200 अंक (180 मिनट अवधि)

Note:

  • You can submit answer sheet for evaluation anytime till Main Examination of UPPSC. 
  • Test Schedules may be modified if date of main examination is postponed.

COURSE FEE [पाठ्यक्रम शुल्क]

Total Fee: 6000/- (Including Taxes)

कुल शुल्क: ₹ 6000/ – (कर सहित)

STEPS FOR ENROLLMENT [नामांकन के लिए कदम]

Follow the following steps for enrollment  (नामांकन के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें) :

  1. Make payment by using Payment Details (given in this page). [भुगतान विवरण (इस पृष्ठ में दिए गए) का उपयोग करके भुगतान करें।]
  2. Fill the online application form (given in this page) after making payment. [भुगतान करने के बाद ऑनलाइन आवेदन फॉर्म (इस पृष्ठ में दिया गया) भरें।] 
  3. Email one ID Proof on selfstudyhistory@gmail.com (selfstudyhistory@gmail.com पर एक आईडी प्रूफ ईमेल करें)
  4. After following the above steps, you will get all the required information within 24 hours on your Email ID. (उपरोक्त चरणों का पालन करने के बाद, आपको अपनी ईमेल आईडी पर 24 घंटे के भीतर सभी आवश्यक जानकारी मिल जाएगी।)

APPLICATION FORM [आवेदन पत्र]

PAYMENT DETAILS [भुगतान विवरण]

Pay by Debit Card/ Credit Card/ UPI/ Wallets (डेबिट कार्ड / क्रेडिट कार्ड / UPI / वॉलेट द्वारा भुगतान करें): 


 

 Paytm to: 9031846848

Contact details for any query (किसी भी प्रश्न के लिए संपर्क विवरण):

Mobile No. (मोबाइल नंबर) 9718593510, 8210076034, 9717510106

Email ID (ईमेल आईडी): selfstudyhistory@gmail.com

Syllabus for Full Test I: Ancient India (पूर्ण टेस्ट I के लिए पाठ्यक्रम: प्राचीन भारत)

1. भारतीय इतिहास के आरंभिक काल के अध्ययन के स्रोत एवं दृष्टिकोण।

2. आरंभिक पशुचारण एवं कृषि समुदाय, पुरातत्विक साक्ष्य (नवपाषणिक एवं ताम्र पाषणिक संस्कृतियां)।

3. सिन्धु सभ्यताः इसके उद्गम तथा प्रकृति एवं हृास।

4. भारत में (2000ई पूर्व से 500 ई पूर्व तक ) बस्ती का स्वरूप, अर्थव्यवस्था, सामाजिक संगठन, धर्मः पुरातात्विक परिप्रेक्ष्य।

5. उत्तर भारतीय समाज तथा संस्कृति का विकासः वैदिक ग्रंथो का साक्ष्य (संहिताओं से सूत्रों तक)।

6. महावीर तथा बुद्ध की शिक्षा समकालीन समाज राज्य निर्माण तथा नगरीकरण के प्रारम्भिक चरण।

7. मगध का उदय मौर्य साम्राज्य, अशोक के शिलालेख, उसका धम्म (धर्म) मौर्य कालीन राज्य की प्रकृति।

8. उत्तरी तथा प्रायद्वीपीय भारत में मौर्योत्तर काल राजनीतिक एवं प्रशासनिक इतिहास, समाज, अर्थव्यवस्था, संस्कृति तथा धर्म तमिलकम एवं इसका समाज संगम ग्रंथ।

9. गुप्तकाल में तथा गुप्तोत्तर काल में भारत (750 ई0 तक) उत्तरी तथा प्रायद्वीपीय भारत का राजनीतिक इतिहास, सामंती व्यवस्था तथा राजनीतिक संरचना में परिवर्तन, अर्थव्यस्था, सामाजिक संरचना, संस्कृति, धर्म।

10. आरंभिक भारतीय सांस्कृतिक इतिहास की विषयवस्तु भाषाएं एवं ग्रंथ कला तथा स्थापत्य के विकास के प्रमुख चरण, प्रमुख दार्शनिक विचारक एवं विचारधाराएं विज्ञान तथा गणित संबंधित विचार।

1. Sources and approaches to study of early Indian History.

2. Early pastoral and agricultural communities. The Archaeological evidence. (Neolithic and Chalcaolithic Cluture)

3. The Indus civilization: its origin, nature and decline.

4. Patterns of settlement, economy, social organization and religion in India (c. 2000 to 500 B.C.): archaeological perspectives.

5. Evolutions of North Indian society and culture: evidence of Vedic Texts (Samhitas of Sutras).

6. Teachings of Mahavira and Buddha, Contemporary Society. Early phase of state formation and urbanization.

7. Rise of Magadha: the Mauryan Empire. Ashoka’s inscriptions, his dharma and nature of the Mauryan State.

8. Post- Mauryan Period in Northern and Peninsular India. Political and Administrative History. Society, Economy, Culture and Religion. Tamilakam and its society and Sangam Texts.

9. Changes in the Gupta and post-Gupta period (upto c. 750) political history of northern and peninsular India. Samanta System and changes in political structure; economy; Social Structure; culture; religion.

10. Themes in early Indian cultural history, languages and texts; major stages in the evolution of art and architecture; major philosophical thinkers and schools; ideas in science and mathematics.

Syllabus for Full Test II: Medieval India (पूर्ण टेस्ट II के लिए पाठ्यक्रम: मध्यकालीन भारत)

1. 750ई0 से 1200 ई0 तक उत्तर भारत के प्रमुख राजवंश तथा राजनीतिक संरचना, राजपूत राजवंशों का उदय तथा चोल साम्राज्य।

2. अरबों की सिंध विजय और गजनवी साम्राज्य, इस्लाम का आगमन और सूफीवाद, अलबेरूनी तथा उसका भारतीय विज्ञान तथा सभ्यता का अध्ययन।

3. भारत (750ई0 से 1200ई0 तक): अर्थव्यवस्था, समाज, साहित्य, प्रमुख ऐतिहासिक ग्रन्थ, स्थापत्य कला की प्रमुख शैलियां, धार्मिक विचार तथा संस्थाएं, भक्ति आन्दोलन का उदय।

4. गोर आक्रमणः आर्थिक, सामाजिक और सांस्कृतिक परिणाम तथा सल्तनत की स्थापना।

5. सल्तनत काल तथा राजनैतिक राजवंशः गुलाम, खिलजी, तुगलक, सैयद तथा लोदी वंश, प्रमुख ऐतिहासिक स्रोत तथा विदेशी यात्रियों के वृत्तान्त, सल्तनतकालीन समाज एवं संस्कृति।

6. क्षेत्रीय राजवंशो का उदयः बहमनी तथा विजयनगर राज्य।

7. मुगलकालः बाबर, हुमायूॅ, सूरकाल, अकबर, जहांगीर, शाहजहां, औरगंजेब, मुगल साम्राज्य का पतन मुगलकालीन समाज, संस्कृति प्रशासन एवं आर्थिक परिवर्तन, यूरोपीय व्यापारिक कम्पनियों का आगमन।

8. शिवाजी और पेशवाओं तथा मराठों का उत्कर्श, सिख शक्ति का उदय, पानीपत का तीसरा युद्ध।

9. मुगलकाल के इतिहास के स्रोतः फारसी तथा देशज, विदेशी यात्रियों के वृत्तान्त।

1. Major dynasties and Political structures in North India from 750A.D. to 1200 A.D. Rise of Rajput Dynasties and the imperial Cholas.

2. Arab Conquest of Sindh and the Ghaznavide Empire; Advent of Islam and Sufism Alberuni and his study of India Science and Civilisation.

3. India 750 A.D. – 1200 A.D.: Economy, Society, Literature, Major Historical works, Styles ofArchitecture, Religious thought and Institutions, Growth of Bhakti Movement.

4. The Ghorain invasions, Economic, Social and Cultural consequences and the foundation of the Sultanat.

5. The Sultanat period and Political Dynasties: Slaves, Khaljis, Tughlaqs, Syeds and Lodis; major historical sources including foreign travelers accounts; Society and Culture during the Sultanat Period.

6. Rise of Provincial Dynasties: Bahmani and Vijaynagar.

7. The Mughal Period: Babar, Humayun; Sur Period: Akbar, Jahangir, Shahjahan, Aurangzeb, decline of the Mughal Empire; Society, Culture, Administration, Economic changes;Arrival of Europeon Trading Companies.

8. Shivaji, Peshwas and Rise of Marathas; the Rise of Sikh Power, third battle of Panipat.

9. Sources of Mughal Period: Persian and indigenous; accounts of Foreign travelers.

Syllabus for Full Test III: Modern India (पूर्ण टेस्ट III के लिए पाठ्यक्रम: आधुनिक भारत)

1. भारत में अंगे्रजी शासन की स्थापना- ईस्ट इण्डिया कम्पनी और क्षेत्रीय शक्तियों के साथ सम्बन्ध।

2. औपनिवेशिक अर्थ व्यवस्था- ट्रिबूट प्रणाली, सम्पत्ति का अपवाह (ड्रेन आफ वेल्थ) तथा अनौद्योगीकरण, वित्तीय एवं भू- राजस्व व्यवस्थायें (जमींदारी, रैयतबारी और महालवारी व्यवस्था), प्रशासनिक नीतियाँ एवं
1857 तक ब्रिटिश राज्य की संरचना (संवैधानिक विकास सहित)।

3. औपनिवेशिक शासन का विरोध- आरम्भिक विद्रोह, कारण, स्वरूप एवं 1857 के विद्रोह का प्रभाव, 1858 एवं उसके बाद ब्रिटिश राज्य का पुनर्गठन।

4. औपनिवेशिक शासन का सामाजिक- सांस्कृतिक प्रभावः शासकीय सामाजिक सुधार के उपाय, प्राच्य आंग्लिक विवाद, अंग्रेजी शिक्षा एवं प्रेस का आगमन, ईसाई मिशनरियों के क्रियाकलाप, बंगाल एवं देश के अन्य
भागों में हुए सामाजिक एवं धार्मिक सुधार आन्दोलन।

5. आर्थिक नीतियाँ- 1858 से 1914 तकः रेलवे, भारतीय कृषि का व्यवसायीकरण, भूमिहीन श्रमिकों एवं ग्रामीण ऋणग्रस्तता में बढ़ोत्तरी, अकाल, ब्रिटिश उद्योग के लिए भारत एक बाजार, ड्रेन सिद्धान्त।

6. भारतीय राष्ट्रवाद का आरम्भिक चरण- सामाजिक पृष्ठभूमि, राजनीतिक संगठनों का गठन, प्रारम्भिक राष्ट्रवादी युग के दौरान कृषक एवं जनजातीय विद्रोह, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की स्थापना, कांग्रेस का नरमपंथी चरण, मुस्लिम लीग का जन्म, 1909 का भारतीय परिषद् अधिनियम, 1919 का भारत सरकार अधिनियम।

7. दो महायुद्धों के बीच भारत की अर्थव्यवस्थाः उद्योग तथा संरक्षण की समस्या, कृषि सम्बन्धी संकट, ग्रेट डिप्रेशन, ओटावाकरार तथा पक्षपातपूर्ण संरक्षण, श्रम संगठनों का विकास, किसान आन्दोलन।

8. होम रूल आंदोलन, गांधी के नेतृत्व में राष्ट्रवाद- गांधी के विचार और जन जागरूकता की विधियां एवं अन्य आन्दोलन, राज्यों में हुए जन आंदोलन तथा राष्ट्रीय आंदोलन के अन्य तत्वः

(A) भारत एवं विदेश में हुए क्रान्तिकारी आंदोलन
(B) स्वराजिस्ट, उदारवादी, प्रतिसंवेदी सहयोग
(C) भारत में वामपंथ का उदय
(D) सुभाश चन्द्र बोस एवं इण्डियन नेशनल आर्मी।

9. साम्प्रदायिकता का विकास- कारण अन्य सम्बन्धित घटनायें, मुस्लिम लीग, हिन्दू महासभा आदि, राष्ट्रीय आंदोलन एवं महिलायें।

10. साहित्यिक एवं सांस्कृतिक विकास- टैगोर, प्रेमचन्द, सुब्रामनियम भारती, इकबाल उदाहरण के रूप में।

11. स्वतंत्रता की ओर- 1935 का अधिनियम, कांग्रेस का मंत्रिमण्डल (1937-1939), पाकिस्तान आंदोलन।

12. 1945 के बाद की लहर (RIN विद्रोह, तेलंगाना विद्रोह आदि), संवैधानिक वार्तायें तथा सत्ता हस्तान्तरण, स्वतंत्रता एवं विभाजन।

1. Establishment of British Rule in India: East India Company and its relations with the Regional Powers.

2. Colonial Economy: Tribute System, Drain of wealth an “Deindustrialization”. Fiscal and Land Revenue Settlements (Zamindari, Ryotwari and Mahalwari settlements). Administrative Policies and Structure of the British Raj upto 1857 (including constitutional developments)

3. Resistance to Colonial Rule: Early uprisings; causes, nature and impact of the Revolt of 1857, Reorganization of the Raj in 1858 and after.

4. Socio-cultural impact of colonial rule: Official social reform measures; Orientalist- Anglicist Controversy; coming of English Education and the Press; Christian Missionary activities; Social and Religious Reform Movements in Bengal and other part of the country.

5. Economic policies 1858-1914. Railways Commercialization of Indian Agriculture; Growth of landless labourers and rural indebtedness; Famines; India as market for British Industry and drain theory

6. Early Indian nationalism; Social background; Formation of  political associations; Peasant and tribal uprisings during the early nationalist era; Foundation of the Indian National Congress; The moderate phase of the Congress; Growth of Extremism, Anti-partitions; and Swadeshi Movement, Birth of Muslim League. The Indian Councils Act of 1909; the Government of India Act of 1919.

7. Inter-war economy of India: Industries and problem of protection; Agricultural distress; The Great Depression; Ottawa agreements and discriminatory Protection. The growth of Trade Unions; Peasant movements.

8. Home Rule Movement nationalism under Gandhi’s leadership: Gandhi’s thoughts, and methods of mass mobilization, and different movements; States people’s Movement and other strands of the National Movement:

(a) Revolutionary movements in India and Abroad;
(b) Swarajists, Liberals, Responsive cooperation;
(c) Emergence of Leftism in India
(d) Subhash Chandra Bose and the Indian National Army.

9. Growth of Communalism; Causes and Developments, Muslim League, Hindu Mahasabha etc.; Women and National Movement.

10. Literary and cultural developments: Tagore, Premchand, Subramanayam Bharti, Iqbal as examples only,

11. Towards freedom: The Act of 1935; Congress Ministries, 1937-1939, The Pakistan movement,

12. Post-1945 upsurge (RIN Mutiny, Telangana uprising etc.): Constitutional negotiations and the Transfer of power; Freedom and Partition.

Syllabus for Full Test IV: World History (पूर्ण टेस्ट IV के लिए पाठ्यक्रम: विश्व इतिहास)

1. पुनर्जागरण, धर्म सुधार आंदोलन एवं प्रतिधर्म सुधार आंदोलन, ’प्रबोधन‘- काल, कान्ट, रूसो आदि, यूरोप के बाहर ’प्रबोधन‘- का विस्तार, समाजवादी विचारों का उदय।

2. आधुनिक राजनीति का उदय- यूरोपीय राज्य-प्रणाली, अमेरिकी क्रान्ति, फ्रासीसी क्रान्ति (1789-1815) एवं उसके परिणाम।

3. औद्योगिक क्रान्ति- कारण एवं समाज पर प्रभाव, अन्य देशों में हुए औद्योगीकरण।

4. राष्ट्र राज्य प्रणाली- 19वीं शताब्दी में राष्ट्रवाद का उदय, जर्मनी एवं इटली का एकीकरण, राष्ट्रीयताओं के आविर्भाव से साम्राज्यों का विघटन।

5. साम्राज्यवाद एवं उपनिवेशवाद- एटलांटिक पार का दास व्यापार, एशियाई विजय, साम्राज्य के प्रकारः बस्तीवाले एवं बस्ती रहित: लातीनी अमेरिका, दक्षिणी अफ्रीका, इण्डोनेशिया, आस्ट्रेलिया आदि।

6. क्रांतियाँ तथा प्रति क्रांतियाँ, 19वीं शताब्दी में यूरोपीय क्रांतियाँ- 1917 की रूसी क्रान्ति, फासीवादी प्रति क्रान्ति- इटली तथा जर्मनी, 1949 की चीनी क्रान्ति, 19. प्रथम एवं द्वितीय विश्वयुद्ध- कारण, परिणाम एवं अन्य घटनायें।

7. शीतयुद्ध- दो गुटों का आविर्भाव एवं अन्य संबंधित घटनायें, तृतीय दुनियाॅ का उदय एवं गुट निरपेक्षता, संयुक्त राष्ट्रसंघ एवं विवादों का समाधान।

8. उपनिवेश एवं उनकी स्वतंत्रता- लातीनी अमेरिका (बोलिविया), अरबी दुनिया (मिस्र), दक्षिण अफ्रीकाः रंगभेद नीति एवं लोकतंत्र की ओर, दक्षिणी-पूर्व एशिया (वियतनाम)।

9. उपनिवेशवाद का अंत तथा अविकासीकरण- औपनिवेशिक साम्राज्यों का विघटन, विकास के अवरोध कारक-(लातीनी अमेरिका, अफ्रीका एवं एशिया)।

10. सोवियत संघ का विघटन एवं एक ध्रुवीय विश्व- कारक, परिणाम एवं अन्य घटनाएं, वैश्वीकरण।

1. Renaissance, Reformation and Counter Reformation, Age of Enlightenment; Major ideas of Enlightenment, Kant, Rousseau etc.; Spread of Enlightenment outside Europe, Rise of Socialist ideas.

2. Origins of Modern Politics-European States System; American Revolution; French Revolution and its aftermath, (1789-1815).

3. Industrialization: Industrial Revolution: Causes and Impact on Society: Industrialization in other countries.

4. Nation-State System-Rise of Nationalism in 19th Century: Unification of Germany and Italy: Disintegration of Empires through the emergence of nationalities.

5. Imperialism and Colonialism: Trans-Atlantic slave Trade,Asian Conquest; Types of Empire: Settlement and non-settlement; LatinAmerica, SouthAfrica, Indonesia,Australia.

6. Revolutions and Counter-Revolutions- 19th Century European revolutions; The Russian Revolution of 1917-1921; Fascist Counter-Revolution, Italy and Germany; the Chinese Revolution of 1949.

7. World Wars (First and Second)- Causes and consequences and various developments.

8. Cold War- Emergence of two Blocs and other related developments. Emergence of Third World and Non-Alignment; UNO and Dispute Resolution.

9. Colonies and Liberation- Latin America- Bolivia; Arab World- Egypt; South Africa Apartheid Policy and Democracy; South- East Asia- Vietnam.

10. Decolonization and underdevelopment –Break up of Colonial Empires; British, French, Dutch; Factors Constraining Development: Latin America, Africa, Asia.

11. Soviet Disintegration and the Unipolar World- Causes, Consequences and other developments; Globalization.

Syllabus for Full Test V: Ancient India and Medieval India (पूर्ण टेस्ट V के लिए सिलेबस: प्राचीन भारत और मध्यकालीन भारत)

  • Complete syllabus of Ancient India and Medieval India
  • प्राचीन भारत और मध्यकालीन भारत का पूरा पाठ्यक्रम

Syllabus for Full Test VI: Modern India and World History (पूर्ण टेस्ट VI के लिए पाठ्यक्रम: आधुनिक भारत और विश्व इतिहास)

  • Complete syllabus of Modern India and World History
  • आधुनिक भारत और विश्व इतिहास का पूरा पाठ्यक्रम
Advertisements

Leave a Reply