Categories Selfstudyhistory.com

UPPSC Mains History Optional Previous years Question Bank [Modern History]

UPPSC Mains History Optional Previous years Question Bank [Modern History]

Establishment of British Rule in India: East India Company and its relations with the Regional Powers.

‘सहायक-सन्धि’ प्रणाली से आप क्या समझते हैं ? इसके गुण दोष का परीक्षण कीजिये । What do you understand by the system of ‘Subsidiary alliance’ ? Examine its merits and defects. [1992]

OR

सहायक सन्धि से आप क्या समझते हैं ? सहायक सन्धि की अवस्थाएँ और शर्त बताते हुए इसके गुण-दोषों का आलोचनात्मक परीक्षण कीजए। What do you understand by ‘Subsidiary Alliance’ ? Explain the stages and conditions of Subsidiary Alliance and examine critically its merits and demerits. [2005]

OR

सहायक संधि व्यवस्था पर आलोचनात्मक टिपणी लिखिये। Write critical notes on Subsidiary alliance system [2013]

OR

सहायक संधि प्रथा के मूलभूत सिद्धान्तों का परीक्षण कीजिए । भारत में इस्ट इंडिया कंपनी की सर्वोच्च प्रभुत्य संपन्न सत्ता को स्थापित करने में उसका क्या योगदान था? Examine the basic principles of the Subsidiary Alliance System’. How far did it contribute in making the East India Company the supreme sovereign authority in India ? [2017]

Click here for answer

प्लासी के युद्ध के कारणों और परिणामों की समीक्षा कीजिये। Examine the Causes and consequences of the battle of Plassey. [1997]

Click here for answer

1765 तक अंग्रेजों ने किस प्रकार बंगाल में अपना नियंत्रण स्थापित किया ? बंगाल नवाबों की चुनौतियाँ अन्ततः विफल क्यो हुई ? How did the British establish their control over Bengal up to 1765 ? Why did the challenge of the Bengal Nawabs ultimately collapse ? [1999]

Click here for answer

टिप्पणी लिखिये:  ‘प्लासी बड़ा भारी विश्वासघात था।‘ Comment on ‘Plassey was a great betrayal.’ [2000]

Click here for answer

1757 से 1919 तक भारत में ब्रिटिश सर्वोच्च सत्ता के विकास की रूपरेखा प्रस्तुत कोजिये। Trace the evolution of the British paramountcy in India from 1757-1919. [2000]

Click here for answer

टिप्पणी लिखिये:  ‘क्लाइच साम्राज्य का आयोजक नहीं वरन ऐसा प्रयोग कर्ता था जिसने उसकी सम्भावना के कुछ अंश को उदघाटित किया। Comment on ‘Clive was not a planner of empire, but an experimenter who revealed some of the possibility.’ [2001]

Click here for answer

“हमने बिना अपने मित्रों को अधिक ताकतवर बनाये अपने शत्रु को अपंग कर दिया है।” इस पर तृतीय आंग्ल-मैसूर युद्ध के प्रकाश में टिप्पणी कीजिए।  “We have crippled our enemy without making our friends too formidable.” Comment on it in the light of the Third Anglo-Mysore war. [2002, 2009]

Click here for answer

‘लार्ड क्लाइव द्वारा प्रस्तावित बंगाल का द्वैध – शासन’ पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिये। Write a critical note ‘The Dual Government introduce by Lord Clive in Bengal’. [2004]

OR

बगाल में क्लाइव द्वारा “द्वैध शासनै व्यवस्था” की विवेचना कीजिये। Discuss the system of ‘Dual Government’ established by Clive in Bengal. [1993]

Click here for answer

बक्सर के युद्ध ने प्लासी के युद्ध की पृर्ति की । इस कथन की विवेचना कीजिए।  The battle of Buxar Completed the work of the battle of Plassey: Justify this statement. [2006]

Click here for answer

चतुर्थ ऐग्लो-मैसूर युद्ध पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिए।Write critical notes on Fourth Anglo-Mysore War. [2008]

Click here for answer

मराठा परिसंघ पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिये। Write critical notes on Maratha Confederacy [2007, 2008]

Click here for answer

आंग्ल-मराठा सम्बन्धों पर प्रकाश डालते हुए समझाइए कि इसने भारत में ब्रिटिश प्रभुत्व को कैसे मजबूत किया। Throw light on the Anglo-Maratha relations and explain how it led to consolidation of British power in India. [2016]

Click here for answer

क्या आप इस कथन से सहमत है कि “ब्रिटिश साम्राज्यवाद का उदय और प्रसार एक संयोग था न कि किसी सुनिश्चित नीति और मंसूबे का परिणाम ।” इस कथन का आलोचनात्मक परीक्षण कीजिए । Do you agree with the view that “the rise and expansion of British empire was an accident rather than the result of a deliberate policy and design”. Critically examine this statement. [2017]

Click here for answer

Colonial Economy: Tribute System, Drain of wealth and “Deindustrialization”. Fiscal and Land Revenue Settlements (Zamindari, Ryotwari and Mahalwari settlements). Administrative Policies and Structure of the British Raj upto 1857 (including constitutional developments)

कार्नवालिस के स्थायी बन्दोबस्त से क्या समझते हैं ? इसके गुण दोषों का परीक्षण कीजिये । What do you understand by Permanent Settlement of Cornwallis ? Examine its merits and demerits. [1990]

OR

बंगाल के स्थायी बन्दोबस्त से आप क्या समझते हैं ? इसके गुण- दोषों का परीक्षण कीजिये। What do you understand by permanent settlement of Bengal? Examine its merits and demerits. [1996]

OR

स्थायी बन्दोबस्त पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिये। Write critical notes on Permanent settlement. [2006]

OR

उन परिस्थितियों का परिचय दीजिये जिसके कारण बंगाल में ‘स्थायी बन्दोबस्त’ प्रारंभ किया गया । जमींदारों, किसानों और सरकार पर उसके प्रभाव का विवेचन कीजिए। Trace the circumstances that led to the introduction of the ‘Permanent Settlement’in Bengal. Discuss its impact on landlords, peasants and government. [2017]

Click here for answer

भारतीय आर्थिक स्थिति पर ब्रिटिश राज्य तथा नीतियों का क्या भाव पड़ा ? क्या यह प्रभाव पूर्णतया विनाशकारी था ? What was that impact of British rule on Indian economy was is essentially destructive? [1991]

Click here for answer

आर्थिक राष्ट्रवाद के विकास में दादाभाई नौरोजी के धन निकासी के सिद्धान्त के प्रभाव का विश्लेषण कीजिए। Analyse the impact of the Drain of Wealth Theory of Dadabhai Naoroji in the growth of economic nationalism. [2012]

Click here for answer

ब्रिटिश शासनकाल में “धन निष्कासन” से आप क्या समझते हैं ? भारत की अर्थव्यवस्था पर इसका क्या प्रभाव पड़ा ? What do you know about ‘Drain of Wealth’ during the British rule. Examine its effects on Indian economy. [1993]

OR

“धन-प्रवाह” ने भारतीय अर्थव्यवस्था को किस प्रकार प्रभावित किया ? Analyse the effect of the “economic drain” on Indian economy. [1999]

OR

ब्रिटिश काल में भारत से धन निष्कासन पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिए। Write critical note on Drain of wealth from Indian under British Rule [2007]

OR

दादाभाई के ‘धन- निष्कासन’ के सिद्धान्त की व्याख्या कीजिए । Explain Dada Bhai’s concept of ‘Drain of Wealth’. [2004]

Click here for answer

भारत में 1857 तक अंग्रेजी साम्राज्यवाद के विभिन्न पहलुओं की समीक्षा कीजिये। Discuss the different aspects of the nature of British Imperialism in India till 1857. [1998]

Click here for answer

ईस्ट इंडिया कम्पनी के अधीन भारत में किस प्रकार के प्रशासनिक सुधार लागू किये गये? What kind of administrative changes were introduced in India under the East India Company ? [1999]

Click here for answer

भारत में ईस्ट इण्डिया कम्पनी के शासन काल में भू-राजस्व व्यवस्था के विकास का संक्षिप्त विवरण दीजिये। Trace the growth of the land revenue system in India under the rule of the East India Company. [2001]

Click here for answer

उत्तरी भारत में ब्रिटिश भूमि व्यवस्था का कृषकों एवं ग्राम संगठनों पर प्रभाव की आलोचनात्मक व्याख्या कीजिए। Discuss critically the impact of British land policy on peasants and village communities in North India. [2004]

Click here for answer

1773 के रेग्युलेटिंग अधिनियम के प्रावधानों का परीक्षण कीजिए। Examine the provisions of Regulating Act of 1773. [2003]

OR

1773 के रेगूलेटिंग ऐक्ट की मुख्य विशेषताओं को बताइए। State the main features of the Regulating Act. 1773. [2008]

Click here for answer

उन्नीसवीं शताब्दी के उत्तरार्ध में भारत में ब्रिटिश आर्थिक नीति की मुख्य विशेषताओं का परीक्षण कीजिए तथा भारत में आधुनिक उद्योगों के सीमित विकास के कारण बताईये। Discuss the main features of the British Economic Policy in India in the second half of the Nineteenth Century and account for the limited growth of modern industries in India. [2008]

Click here for answer

इस्ट इन्डिया कभ्पनी के शासन के अन्तर्गत भारत में भू- राजस्थ च्यवस्था के विकास को रेखांकित तथा ग्रामीण समाज पर उसके प्रभाव को भी इंगित कीजिए। Trace the growth of the land revenue system in India under the rule of East India Company and also point out its effects on the rural society. [2010]

Click here for answer

महलवाड़ी व्यवस्था पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिए । Write critical notes on Mahalwari System. [2011]

Click here for answer

क्या आप इस विचार से सहमत हैं कि भारतीय अर्थव्यवस्था का अनौद्योगिकीकरण अग्रेजी शासन का प्रत्यक्ष परिणाम था ? विवेचना कीजिये। Do you agree with the view that de-industrialization of Indian economy was a direct result of the British rule? Discuss. [2013]

Click here for answer

ईस्ट इंडिया कंपनी के शासन के अन्तर्गत भारत में भू-राजस्व व्यवस्था के विकास को रेखांकित कीजिए तथा ग्रामीण समाज पर उसके प्रभावों को भी इंगित कीजिए । Trace the growth of the land revenue system in India under the rule of East India Company and also point out its effects on the rural society. [2014]

Click here for answer

ब्रिटिश शासन के अधीन भारत में हुए अनौद्योगीकरण पर एक लेख लिखें। Write a note on the ‘deindustrialization’ in India during British rule. [2015]

Click here for answer

भारत में उपनिवेशवाद के विभिन्न चरणों को स्पष्ट कीजिए। इन चरणों में भारतीय अर्थव्यवस्था किस प्रकार प्रमावित हुई ? Identify the distinct stages of colonialism in India. How these stages effected the Indian economy? [2017]

Click here for answer

Resistance to Colonial Rule: Early uprisings; causes, nature and impact of the Revolt of 1857, Reorganization of the Raj in 1858 and after. 

1857 के विद्रोह की प्रकृति का आलोचनात्मक विश्लेषण कीजिये। क्या इसे भारंतीय स्वतन्त्रता का प्रथम संग्राम माना जा सकता है ? Discuss the nature of the revolt of 1857. Can it be regarded as the first war of India’s independence ? [1992]

OR

1857 के विद्रोह की प्रकृति की आलोन्ननात्मक परीक्षा कीजिये? Critically examine the nature of the revolt of 1857. [1995]

OR

‘1857 के विद्रोह का स्वरूप’ पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिये। Write a critical note ‘The nature of the Revolt of 1857’. [2003, 2004]

OR

1857 की क्रान्ति के कारणों और प्रकृति की समीक्षा कीजिये। Examine the causes and nature of the uprising of 1857. [1998]

OR

1857 के विद्रोह के मुख्य कारणों का विश्लेषण कीजिये? Analyse the main causes of the revolt of 1857. [1991]

OR

इस निष्कर्ष से बचना कठिन है कि तथाकथित स्वतंत्रता का प्रथम राष्ट्रीय युद्ध न प्रथम न राष्ट्रीय न स्वतंत्रता का युद्ध है। इस वक्तव्य का आलोचनात्मक परीक्षण कीजिये । “It is difficult to avoid the conclusion that the so-called First National War of Independence is neither First nor National, nor War of Independence.” Examine this statement critically. [2001]

Click here for answer

टिप्पणी लिखिये : ‘1857 का विद्रोह वास्तव में अवध का विद्रोह था। Comment on  “The uprising of 1857 was really a revolt of Awadh.’ [2000]

OR

क्या आप इस बात से सहमत हैं की 1856 के अवध प्रान्त का विलय एवं सारांश बंदोबस्त 1857 की क्रांति के प्रमुख कारण थे ? टिपणी कीजिये। Do you agree that the annexation of Awadh and summary settlement of 1856 were the major causes of 1857 uprising? Comment. [2013]

Click here for answer

1857 के विद्रोह का क्या स्वरूप था? विद्रोह के क्या परिणाम हुए? What was the nature of the Revolt of 1857.What were its results? [1990]

OR

1857 का क्रान्ति का प्रभाय पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिए। Write critical notes on The impact of the Revolution of 1857. [2010]

Click here for answer

व्यपगत अथवा उत्तराधिकारहरण का सिद्धांत पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिए। Write critical notes on Doctrine of Lapse [2005]

Click here for answer

1857 के विद्रोह के कारणों की विस्तृत विवेचना कीजिए। इसकी असफलता के कारण बताइए तथा इसकी प्रकृति एवं स्वरूप को भी समझाइए। Discuss in details the causes of the Revolt of 1857. Account for its failure and explain its nature and character also. [2005]

Click here for answer

1857 के ब्रिटिश अनुभवों के बाद भारत के प्रति हुए प्रमुख नीतिगत परिवर्तनों की व्याख्या कीजिये। Explain the major policy changes towards India after the British experiences of 1857. [2008]

Click here for answer

1857 से पूर्व के जन-चिद्रोहों की क्या मुख्य विशेषताएँ थी ? क्या वे 1857 की क्रांति से तुलनीय हैं? What were the main features of Civil Rebellions prior to 1857? Are they comparable to the Revolution of 1857 ? [2011]

Click here for answer

बहादुर शाह ज़फर  पर आलोचनात्मक टिपणी लिखिये। Write critical notes on Bahadur Shah Zafar and the uprising of 1857 [2013]

Click here for answer

1857 के विद्रोह में महिलाओऔ के योगदान पर प्रकाश डालिये। Throw light on the contribution of Women during the Revolt of 1857. [2015]

Click here for answer

1858 आधुनिक भारतीय इतिहास की महान विभाजक रेखा है, क्योंकि इसके पश्चात् सरकार की नीति, आचरण तथा आदर्श इसके पूर्व की ईस्ट इंडिया कम्पनी संरकार से (जिसके इसने विस्थापित किया) मूलरूप से भिन्न थी विवेचना कीजिए।1858 is the Great divide in modern Indian history, as the policy, practice and ideals of the government that followed, differed fundamentally from the government under company which it replaced. Discuss. [2016]

Click here for answer

Socio-cultural impact of colonial rule: Official social reform measures; Orientalist-Anglicist Controversy; coming of English Education and the Press; Christian Missionary activities;Social and Religious Reform Movements in Bengal and other part of the country.

राममाहन राय भारतीय पुनर्जागिरण के जनक थे । व्याख्या कीजिये । Ram Mohan Roy was the father of Indian Renaissance’ Elucidate. [1990]

OR

‘राममोहन राय भारतीय पुनर्जागरण के जनक थे।’ इस कथन की विवेचना कीजिये। ‘Ram Mohan Roy was the father of Indian Renaissance’. Discuss the statement. [1996]

Click here for answer

आर्य समाज पर संक्षिप्त टिपण्णी कीजिये । Write short notes on : Arya Samaj [1991]

Click here for answer

लार्ड रिपन के वायसराय के ख्प में कार्यकाल की आलोचनात्मक मूल्यांकन कीजिये । Give a critical review of the Vice royalty of Lord Ripon. [1992]

Click here for answer

भारतीय समाज और संस्कृति पर पश्चिमी सभ्यता के प्रभाव पर एक विश्लेषणात्मक निबन्ध लिखिये । Write an analytical essay on the impact of the West on Indian society and culture. [1994]

Click here for answer

ब्रिटिश शासन का भारत पर क्या प्रभाव पड़ा ? What was the impact of British rule on India ? [1995]

Click here for answer

आधुनिक भारत के निर्माण में दयानन्द अथवा सैयद अहमद के योगदान का मूल्यांकन कीजिये। Evaluate the contribution of Dayanand or Syed Ahmad in making of modern India. [1997]

Click here for answer

उन्नीसवीं शताब्दी के उत्तरार्द्ध में भारत के सामाजिक एवं धार्मिक आन्दोलनों पर एक आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिये। Write a critical note on the social and religious movements in India in the second half of the 19th century. [1998]

Click here for answer

भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन ने सामाजिक सुधार की फ्रवृत्तियाँ को किस प्रकार प्रभावित किया ? How did the Indian National Movement influence the trend of social reforms. ? [1999]

Click here for answer

‘ओरइन्टालिस्ट-इंग्लिसिस्ट वियाद’ पर आलोचनत्मक टिप्पणी लिखिए । Write critical notes on ‘Orientalist-Anglicist controversy’ [2004]

OR

प्राच्य बनाम पाश्चात्य सम्बन्धी विवाद पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिए। Write critical notes on Orientalism versus Anglicanism debate. [2010]

OR

आंग्लविद्-प्राच्यविद् विवाद की विवेचना कीजिए। इसका समाधान कैसे हुआ और इसके क्या परिणाम हुए? Discuss the Anglicist-Orientalist controversy, How was it solved, and with what results? [2016]

Click here for answer

सामाजिक- धार्मिक सुधार आन्दोलनों ने 19वीं शताब्दी में स्त्रियों की मुक्ति में किस सीमा तक यौगदान दिया? To what extent did the socio-religious movements contribute to the emancipation of women in the 19th century ? [2006]

OR

“उन्नीसवी सदी के सुधार-आन्दोलनों ने हिन्दू स्त्रियों की दशा में सुघार किए।“ इस कथन का आलोचनात्मक परीक्षण कीजिए। “The Nineteenth Century reform movements improved the condition of Hindu women.” Critically examine this statement. [2011]

OR

सामाजिक-धार्मिक सुधार आन्दोलन ने 19वीं शताब्दी में स्त्रियों की दशा के प्रति किस सीमा तक योगदान दिया। To what extent the socio-religious reform movements contributed in the emancipation of women during the 19th century ? [2017]

Click here for answer

लॉर्ड मैकाले पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिये। Write critical notes on Lord Macaulay. [2006]

Click here for answer

उन्नीसवीं शताब्दी भारत में हुए सामाजिक-धार्मिक आन्दोलन के स्वरूप का सोदाहरण विश्लेषण कीजिए। Analyse (with examples) the nature of Socio-Religious Reform Movement in India during 19th century. [2015]

OR

19th शताब्दी के सामाजिक-धार्मिक आंदोलन के उद्भव और योगदान का विश्लेषण कीजिये। Analyse the emergence and contribution of the Socio-Religious movements of the 19th century. [2013]

OR

बंगाल में उन्नींसवीं शताब्दी के दौरान सामाजिक-धार्मिक सुधार आंदोलनों का संक्षिप्त परीक्षण कीजिए। Briefly examine the socio-religious reform movements during 19th Century in Bengal. [2009]

OR

उन्नीसवीं शताब्दी के सामाजिक-धार्मिक सुधार आन्दोलनों के स्वरुप एवं महत्व की विवेचना कीजिए । Discuss the nature and significance of the socio-religious reform movements of the nineteenth  century. [2000]

Click here for answer

हार्टोग कमेटी पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिए। Write critical notes on Hartog Committee. [2012]

Click here for answer

औपनिवेशिक शासको द्वारा भारत में प्रेस की स्वतन्त्रता को कुचलने के लिये पास किये गये विनियमों की विवेचना कीजिए । Discuss the major regulations passed by the colonial rulers to muzzle the freedom of press in India. [2012]

Click here for answer

ज्योतिराव गोविन्दराव फुले पर आलोचनात्मक टिप्पणियों लिखिए। Write critical notes on Jotirao Govindrao Phule [2014]

Click here for answer

भारत में अंग्रेजों की पकड़ मजबूत बनाने पर ईसाई मिशनरियों की भूमिका पर प्रकाश डालिए। Throw light on the role of Christian Missionaries in strengthening British hold on India. [2015]

Click here for answer

ब्रिटिश शासलकाल में महिलाओं की स्थिति तथा उनकी दशा सुधारने के लिये बनाए कानूनों की विवेचना कीजिए। वर्तमान में महिलाओं की क्या स्थिति है। Discuss the condition of women during British rule and the laws enacted to improve their lot. What is the position of women in present times ? [2015]

Click here for answer

चार्ल्स वुड की शिक्षा सम्बन्धी डिस्पैच की सिफारिशों का परीक्षण कीजिए । यह आगे चलकर भारत में शिक्षा विकास के लिये कहाँ तक आधार बनी? Examine the recommendations of Charles Wood’s dispatch on Education. How Tar did these form the basis of subsequent developement of education in India ? [2016]

Click here for answer

भारतीय राष्ट्रवाद के विकास में भारतीय प्रेस की भूमिका का आंकलन कीजिए। Make an estimate of the role of Indian press in the growth of Indian nationalism. [2016]

Click here for answer

Economic policies 1858-1914. Railways Commercialization of Indian Agriculture; growth of landless labourers and rural indebtedness; Famines; India as market for British Industry and drain theory.

दुर्भिक्ष की परिभाषा कीजिए एवं उन्नीसवीं सदी के उत्तरार्ध की ब्रिटिश दुर्निक्ष-नीति का आलोचनात्मक परीक्षण कीजिए । Define ‘Famine’ and critically examine the British Policy towards famine during later half of 19th Century. [2002]

Click here for answer

‘न रेलें होतीं और न आधुनिक भारत होता’ पर आलोचनत्मक टिप्पणी लिखिए । Write critical notes on  ‘No Railways no modern India’ [2004]

Click here for answer

कृषि का वाणिज्यीकरण पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिए। Write critical notes on  Commercialization of agriculture [2005]

OR

1858 और 1914 के मध्य भारतीय कृषि का व्यापारीकण पर संक्षिप्त टिप्पणियाँ लिखिए। Write critical notes on Commercialization of Indian Agriculture between 1858 and 1914. [2009]

Click here for answer

ब्रिटिश शासन के अधीन कृषि की समस्याओं का आलोचनात्मक परीक्षण करते हुये, कृषको की अशान्ति के कारणों एवं परिणामों की चर्चा करें। Critically analysing the problems of agriculture during the British rule, discuss and results of unrest among the peasants. [2015]

Click here for answer

19वीं शताब्दी में कृषि के वाणिज्यीकरण प्रतिरूप को दर्शाएँ । क्या यह अधिसंख्यक गरीब किसानों के लिये आरोपित प्रक्रिया थी ? Bring out the pattern of commercialization of agriculture in the 19th  Century. Was it a forced process for the vast majority of poorer peasants ? [2016]

Click here for answer

भारतीय अर्थव्यवरथा पर रेलवे के प्रभावों का मूल्यांकन करें। Discuss the impact of Railways on Indian economy. [2017]

Click here for answer

Early Indian nationalism; Social background; Formation of political associations; Peasant and tribal uprisings during the early nationalist era; Foundation of the Indian National Congress; The moderate phase of the Congress; Growth of Extremism,Anti-partitions; and Swadeshi Movement, Birth of Muslim League. The Indian Councils Act of 1909; the Government of India Act of 1919. 

भारतीय रांष्ट्रीय आन्दोलन के उत्थान तथा विकास के कारणों की विवेचना कीजिये । Appraise the factors responsible for the rise and growth of Indian National movement. [1991]

Click here for answer

इण्डियन नेशनल कांग्रेस पर संक्षिप्त टिपण्णी कीजिये । Write short notes on: Indian National Congress  [1991]

OR

उन्नीसरीं शताब्दी के उत्तरार्द्ध में भारत में राष्ट्रवाद के विकास को अनुरेखित कीजिए। Trace the rise of nationalism in India in the second half of the Nineteenth Century. [2004]

Click here for answer

मुस्लिम लीग की स्थापना किन परिस्थितियों में हुई ? इसके उद्देश्य क्या थे ? What were the circumstance leading to the formation of the Muslim League ? What were its objectives? [1993]

Click here for answer

भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन में मितवादियों की भूमिका का मूल्यांकन कीजिये। Assess the role the moderates in Indian national Movement. [1998]

Click here for answer

टिप्पणी लिखिये:  ‘औपनिवेशिक राज्य को जनजातीय प्रत्युक्तर में समय-समय पर होने वाले हिंसक विद्रोहों के साथ-साथ आंतंरिक धार्मिक तथा सामाजिक-सांस्कृतिक आन्दोलन भी शामिल थे । Comment on “The tribal response to the Colonial state included occasional violent outbursts, but also movements of internal religious and socio-cultural movement.’ [2001]

Click here for answer

टिप्पणी लिखिये : मुसलमानों को पृथक् निर्वाचन-क्षेत्र प्रदान करके साम्राज्यवादी सत्ता ने अन्य भारतीयों से उनके अलगाव को संस्थागत रूप दे दिया। Comment on ‘By granting Muslims separate electorates the Imperial power institutionalized their division from other Indians.’ [2001]

Click here for answer

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में गरम दल के उदय के कारणों की विवेचना कीजिए एवं राष्ट्रीय आन्दोलन पर उसके प्रभावों की समीक्षा कीजिए । Discuss the causes of the rise of Extremist elements in the Indian National Congress and assess its impact on the National Movement. [2004]

Click here for answer

उन परिस्थितियों का वर्णन कीजिए जिनमें भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का जन्म हुआ। इसकी स्थापना के सम्बन्ध में विविध अवधारणाओं की आलोचनात्मक विवेचना कीजिए। क्या इसे ‘भारतीय पुनर्जागरण की संतान’ कहना उचित है ? Trace the circumstances in which the Indian National Congress was born. Analyze critically various concepts regarding its foundation. Is it justified to call it ‘the child of the Indian Renaissance”? [2005]

Click here for answer

“मैने एक प्रतिनिधि के रूप में 1912 की क्रिस्मस में बांकीपुर ‘काँग्रेस अधिवेशन में भाग लिया था। यह मुख्य रूप से अग्रेजी-भाषा उच्च यर्ग के लोगों का कार्य-कलाप (जमघट) था जहाँ प्रातः कालीन कोट तथा भढिया. इस्त्री की हुई पतलूने दिखाई दे रही थी। मूलतः यह एक सामजिक बैठक थी जिसमें किसी प्रकार की राजनैतिक उत्तेजना या तनाव का अभाव था” क्या यह कथन बीसवीं शताब्दी के आरम्भिक दशकों में भारतीय राष्ट्रीय काँग्रेस के चरित्र का वास्तविक मूल्यांकन है ? “I visited, as a delegate, the Bankipora Congress during Christmas of 1912. It was very much an English knowing upper class affair where morning coats and well-pressed trousers wer greatly in evidence. Essentially it was a social gathering with no political excitement or tension.” Is it a correct asessment of – the character of the Indian National Congress in the opening decades of the 20 Century? [2008]

Click here for answer

1919 का भारत सरकार अधिनियम पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिए। Write critical notes on Government of India’s Act of 1919. [2008]

Click here for answer

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में समाजवादी विधारों के प्रादुर्भाव की विवेचना कीजिए। कांग्रेस की नीतियों पर इन विचारों का क्या प्रभाव पड़ा ? Discuss the emergence of socialist ideas in the Indian National Congress. What was their impact on Congress policies ? [2014]

Click here for answer

औपनिवेशिक भारत में हुए जनजातीय विद्रोहों के कारकों का विवेचन करें। Discuss the factors responsible for the tribal uprisings in colonial India. [2017]

Click here for answer

Inter-war economy of India: Industries and problem of protection; Agricultural distress; The Great Depression; Ottawa agreements and discriminatory Protection. The growth of Trade Unions; Peasant movements.

भारत में मजदूर संघ आंदोलन के विकास का विवरण दीजिये। Give an account the development of the Trade Union Movement in India. [2000]

Click here for answer

मोपला उपद्रव (1921) पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिये। Write critical notes on Moplah uprising (1921). [2006]

Click here for answer

भारत में 1914 से 1947 तक औद्योगिक विकास के प्रमुख अभिलक्ष्यों की पहचान करते हुए फैक्ट्री श्रमिकों पर पड़े उसके प्रभाव को चिहिन्नत कीजिए। Identify the main features of industrial development in India from 1914 to 1947, and trace its impact on the factory labourers. [2016]

Click here for answer

Home Rule Movement nationalism under Gandhi’s leadership: Gandhi’s thoughts, and methods of mass mobilization, and different movements; States people’s Movement and other strands of the National Movement: (a) Revolutionary movements in India and Abroad; (b) Swarajists, Liberals, Responsive cooperation; (c) Emergence of Leftism in India (d) Subhash Chandra Bose and the Indian National Army. 

भारत के स्वतन्त्रता सग्राम मे गांधीजी के योगदान को मूल्यंकन कीजिये । Evaluate the contribution of Gandhiji to the struggle for India’s Independence. [1990]

OR

महात्मा गाँधी की स्वतन्त्रता संघार्ष में क्या भूमिका थी? What was the role of Mahatma Gandhi in the Indian Freedom Struggle ? [1995]

OR

भारत की स्वतनत्रता-प्राप्ति में महात्मा गाँधी की भूमिका की समीक्षा कीजिये । Evaluate the role of Mahatma Gandhi the attainment of India’s freedom. [1996]

OR

महात्मा गांधी की भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन में भूमिका का आलोचनात्मक मूल्यांकन कीजिये। Give a critical estimate of the role of Mahatma Gandhi in the Indian National Movement. [1998]

Click here for answer

जवाहरलाल नहरू पर संक्षिप्त टिपण्णी कीजिये । Write short notes on: Jawahar Lal Nehru. [1991]

Click here for answer

1934 के मध्य भारत के प्रमुख वामपंथी दलों के कार्यों का संक्षिप्त विवरण दीजिये । Give a brief description of the main left parties India during 1934-47. [1993]

Click here for answer

कॉंग्रेस समाजवाद दल की नीति अन्य वामषन्था दैलों की नीतियों से किन बातों में भिन्न थी? गाँधीजी और काँग्रेस ‘के विचारों और नीतियों को प्रभावित करने में काँग्रेसी समाजवादी कहाँ तक सफल रहे? What were the differences between the policies of the Congress Socialist party and other left parties ? How far were the Congress Socialists successful in their attempt to influence the ideas and policies of Gandhi and the Congress? [1994]

Click here for answer

1917 और 1933 के बीच भारतीय राजनीति में वामपंथी आन्दोलन के विकास का वर्णन कीजिये। Give a description of the growth of the Left movement in Indian politics during the period 1917-33. [1997]

Click here for answer

भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन में कांग्रेस-सामाजवादियों की भूमिका का मूल्यांकन कीजिये। Evaluate the role of Congress-socialists in the Indian national movement. [1997]

Click here for answer

क्या भारतीय राजनीति में महात्मा गांधी की भूमिका को संघर्ष-विराम-संघर्ष की शब्दावली में समुचित रूप से परिभाषित किया जा सकता है ? Can the role of Mahatma Gandhi be appropriately defined in terms of struggle-truce-struggle in Indian politics ? [2000]

Click here for answer

भारत की स्वतंत्रता के लिये संघर्ष में क्रांतिकारी-राष्ट्रीय आन्दोलन की भूमिका का मूल्यांकन कीजिये। Assess the role of the Revolutionary-National Movement in India’s struggle for freedom. [2001]

Click here for answer

असहयोग आन्दोलन के सकारात्मक एवं नकारात्मक पहलुओं का मूल्यांकन कीजिए। Evaluate the positive and negative programmes of Non Cooperation movement. [2002]

Click here for answer

भारत छोड़ो आन्दोलन के दौरान निर्मित समानान्तर सरकारों का संक्षिप्त विवरण दीजिए । Bring a short account of the parallel governments formed during the Quit India Movement. [2003, 2009]

Click here for answer

1942 में गांधी ने किन परिस्थितियों में ‘भारत छोडो आन्दोलन’ का सूत्रपात किया ? उनके द्वारा संचालित अन्य आन्दोलनों से यह कहाँ तक भिन्न था ? Under what circumstances Gandhi initiated his ‘Quit India Movement’ in 1942? How far was it different from his other movements? [2004]

Click here for answer

वामपंथी विधारधीरा का विकास पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिए। Write critical note on Growth of Communist Ideology  [2007]

Click here for answer

महात्मा गाँधी के आंदोलनों का संक्षिप्त परीक्षण कीजिए । उन्होंने राष्ट्रीय संघर्ष में सत्याग्रह पर जोर क्यों दिया ? Briefly examine the movements of Mahatma Gandhi. Why did he emphasize on Satyagrah in national struggle ? [2007]

Click here for answer

बारदोली आंदोलन पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिये। Write critical notes on Bardoli Movement [2008]

Click here for answer

महात्मा गांधी के जन आंदोलनों की समीक्षा कीजिये। उन्होंने उनमें क्या रणनीति अपनाई ? Review the mass movements of Mahatma Gandhi. What strategy did he apply therein ? [2008]

Click here for answer

“महात्मा गांधी, गोपालकृष्ण गोखले और बाल गंगाधर तिलक के मध्य मजबूत सेतु थे।” इस कथन पर टिप्पणी कीजिए। “Mahatma Gandhi was a strong bridge between Gopal Krishna Gokhale and Bal Ganagadhar Tilak.” Comment on this statement. [2009]

Click here for answer

राष्ट्रीय राजनीति पर सविनय अवज्ञा आन्दोलन का प्रभाव पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिए। Write critical notes on Impact of Civil Disobedience Movement on national politics. [2010]

Click here for answer

“भारत छोड़ो आन्दोलन” का महत्त्व पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिए । Write critical notes on Significances of the ‘Quit India Movement’. [2011]

Click here for answer

सुभाष चन्द्र बोस के विशेष संदर्भ में, भारतीय स्वतंत्रता आन्दोलन में ‘क्रान्तिकारियों की भूमिका की विवेचना कीजिए। Discuss the role of ‘Revolutionaries’ in the Indian National Movement with special reference to Subhash Chandra Bose. [2011]

Click here for answer

व्यक्तिगत सत्याग्रह पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिए। Write critical notes on Individual Satyagraha. [2012]

Click here for answer

रास बिहारी बोस पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिए। Write critical notes on Rash Behari Bose. [2012]

Click here for answer

श्यामजी कृष्ण वर्मा पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिए। Write critical notes on Shyamji Krishna Verma. [2012]

Click here for answer

गाँधीजी के राजनीति में आगमन के बाद राष्ट्रीय आन्दोलन के चरित्र में आये बदलावो को चिन्हित कीजिये। Point out the changes brought about in the character of national movement after the advent of Gandhiji in politics. [2012]

Click here for answer

आज़ाद हिन्द फ़ौज पर आलोचनात्मक टिपणी लिखिये। Write critical notes on Indian National Army [2013]

Click here for answer

भगतसिंह एवं उनकी कान्ति की अवधारणा पर आलोचनात्मक टिप्पणियों लिखिए। Write critical notes on Bhagat Singh and his concept of revolution. [2014]

Click here for answer

देशी रजवाड़ों में जन-आन्दोलन पर आलोचनात्मक टिप्पणियों लिखिए। Write critical notes on People’s movement in princely states [2014]

Click here for answer

सुभाष चन्द्र बोस पर आलोचनात्मक टिप्पणियों लिखिए। Write critical notes on Subhas Chandra Bose [2014]

OR

भारत के स्वतंत्रता सग्राम में सुभाष चन्द्र बोस द्वारा दिये गये योगदान के बारे में आप क्या जानते हैं? What do you know about Subhas Chandra Bose’s contribution to India’s Freedom Movement ? [2015]

Click here for answer

महात्मा गाँधी से अनेक मुद्दों पर वैचारिक मतभेदों का रेखांकित करते हुये आधुनिक भारत के निर्माण में पं0 जवाहरलाल नेहरू के योगदान का मूल्यांकन करें। Outlining the difference of opinion with Mahatma Gandhi on several issues, evaluate the contribution of P. Jawaharlal Nehru in the making of Modern India. [2015]

Click here for answer

1920-22 के असहयोग आन्दोलन को कहाँ तक जन आन्दोलन कहा जा सकता है ? इसके आदर्शों, कार्यक्रम विधियों तथा समाज के विभिन्न वर्ग तथा समूहों की भागीदारी के संदर्भ में इसका सोदाहरण विश्लेषण कीजिए। How far can the Non-cooperation Movement of 1920-22 be termed as a mass movement ? Through examples, anelyse the same with reference to its ideology, programme, methods and the extent of participation by different social classes and groups. [2016]

Click here for answer

सविनय अवज्ञा आन्दोलन के स्वरूप एवं महत्व का मूल्यांकन करें। Discuss the nature and significance of Civil Disobedience Movement. [2017]

Click here for answer

कौंग्रेस समाजवादी पार्टी के नेतृत्व की प्रकृति और कार्यक्रम का विवेचन कीजिए। Discuss the nature of the leadership and programme of the Congress Socialist party. [2017]

Click here for answer

1905-1931 ई० के बीच भारत में क्रान्तिकारी आन्दोलनो के उदय और प्रगति के कारणों का परीक्षण करें। Examine the causes for the rise and progress of revolutionary movement in India between A.D. 1905-1931. [2017]

OR

1925 और 1931 के मध्य भारतीय क्रान्तिकारी आंदोलन के विकास का परीक्षण कीजिए। Examine the development of Indian revolutionary movement between 1925 and 1931. [2003]

Click here for answer

क्या आपके विचार में “भारत छोडों आन्दोलन एक स्वतः स्फूर्त क्रान्ति थी”? Do you think that “Quit India Movement was spontaneous revolution” ? [2017]

OR

भारत छोड़ो आन्दोलन ब्रिटिश शासन के विरुद्ध स्वतःस्फूर्त जन-विद्रोह था। इसका विश्लेषण कीजिए। The Quit India Movement’ was a spontaneous revolt of the people against the British rule. Analyse it. [2006]

Click here for answer

Growth of Communalism; Causes and Developments, Muslim League, Hindu Mahasabha etc.; Women and National Movement. 

साम्प्रदायिकता के उद्भव विकॉस पर एक तर्क युक्त विवरण प्रस्तुत कीजिये । Give a critical account of the rise and growth of communalism. [1994]

Click here for answer

द्विराष्ट्री सिद्धांत पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिए। Write critical notes on Two-nation theory [2005]

Click here for answer

भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन में महिलाओं के योगदान का विस्तृत विश्लेषण कीजिये। Analyse in detail the role of women in India National Movement. [2007]

Click here for answer

1906-1940 के मध्य भारत में मुस्लम पृथक्कतावाद का विकास पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिए। Write critical notes on Development of Muslim separatism in India between 1906-1940. [2008]

Click here for answer

किन्ही दो संवैधानिक सौदों की विवचना कीजिए. जिनके माघ्यम से आपके अनुसार अंग्रेजों ने भारत में साम्प्रदायिक राजनीति को प्रोत्साहन दिया। Discuss any two constitutional negotiations through which according to you, the British tried to advance and communal politics in India. [2015]

Click here for answer

Literary and cultural developments: Tagore, Premchand, Subramanayam Bharti, Iqbal as examples only, 

प्रेमचन्द के लेखन में ग्राम्य जीवन पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिए। Write critical notes on Village (Rural) life in the writings of Premchand. [2010]

Click here for answer

भारत में राष्ट्रीय चेतना का उत्थान में साहित्य की भूमिका स्पष्ट कीजिए । Explain the role of literature in the growth of national consciousness in India. [2014]

Click here for answer

Towards freedom: The Act of 1935; Congress Ministries, 1937-1939, The Pakistan movement.

1935 से 1947 तक भारतीय राजनीति में अखिल भारतीय मुस्लिम लीग की भूमिका का विवरण दीजिये । Give an account of the role placed by the Indian Muslim League in Indian politics from 1935 to 1947.  [1990]

Click here for answer

1935 के भारत सरकार अधिनियम की प्रमुखताओं का उल्लेख कीजिये ।  Discuss the chief features of the ‘Government of India Act of 1935’. [1992]

Click here for answer

1935 से 1947 तक भारतीय राजनीति में अखिल भारतीय मुस्लिम लीग की भूमिका का विवेचन कीजिये। Discuss the role of All India Muslim League in Indian politics from 1935 to 1947. [1996]

Click here for answer

टिप्पणी लिखिये : ‘क्रिप्स प्रस्ताव ने अनिश्चित संख्या में विभाजनों की संभावना के लिये द्वार खोल दिया। Comment on “The Cripps Proposal opened the door for the possibility of an indefinite number of partitions. [2000]

Click here for answer

1935 के भीरतीय सरकार अधिनियम की मुख्य विशेषताओं की विवेचना कीजिये । भारत के संवैधानिक इतिहास में इसका क्या महत्त्व है ? Discuss the main features of the Government of India Act, 1935. What is its significance in the constitutional history of India ? [2004]

Click here for answer

1937 के कांग्रेस मन्त्रिमण्डल पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिए। Write critical notes on Congress Ministries of 1937. [2005]

Click here for answer

1935 के भारत सरकार अधिनियम का परीक्षण कीजिए । इस अधिनियम ने भारतीय राजनीतिक को किस प्रकार प्रभावित किया ? Examine the Government of India Act of 1935. How did this Act Influence the Indian politics ? [2007]

Click here for answer

हरिपुरा कांग्रेस अधिवेशन पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिये।  Write critical notes on Congress session of Haripura [2008]

Click here for answer

1935 के भारत सरकार अधिनियम की प्रमुख विशेषताओं का परीक्षण कीजिये। इसे “गुलामी का एक नया दस्तावेज” क्यों कहा गया था ? Examine the main features of Government of India Act, 1935. Why was is called a “new charter of slavery” ? [2008]

Click here for answer

प्रान्तीय स्वायत्तता में दोष पर संक्षिप्त टिप्पणियाँ लिखिए। Write critical notes on Demerits of Provincial Autonomy. [2009]

Click here for answer

1935 के भारत सरकार अधिनियम की मुख्य विशेषताओं का परीक्षण कीजिए। क्या यह 1919 के अधिनियम का विस्तार मात्र था? विवेचना कीजिए। Examine the salient features of the Government of India Act of 1935. Was it mere extension of the Act of 1919? Discuss. [2010]

Click here for answer

आधुनिक भारत मे पाकिस्तान आन्दोलन के विकास को चिन्हित कीजिए। Trace the growth of Pakistan Movement in modem India. [2015]

Click here for answer

Post-1945 upsurge (RIN Mutiny, Telangana uprising etc.): Constitutional negotiations and the Transfer of power; Freedom and Partition. 

जवाहरलाल नेहरू की वाह्य नीति की प्रमुख विशेषताओं की विवेचना कीजिये । Discuss the main features of Jawaharlal Nehru’s foreign policy. [1993]

OR

पंडित  जवाहरलाल नेहरू के कार्यकाल में भारतीय विदेश नीति की प्रमुख विशेषताओं की विवेचना कीजिए। Discuss the main features of India’s foreign policy in Pt. Jawaharlal Nehru’s tenure. [2010]

OR

स्वतंत्रता एवं विभाजन के पश्चात भारतीय विदेश नीति के मूल निर्धारक तत्वों की विवेचना करें। Discuss the basic determinants of India’s foreign policy after independence and partition. [2017]

OR

1947 के बाद पड़ोसी देशों के प्रति अपनाई गई भारत की विदेश नीति का मूल्यांकन कीजिए।  Evaluate the Foreign policy of India towards its neighbouring countries after 1947. [2015]

OR

1947 के पश्चात् भारत की विदेश नीति की प्रमुख प्रवृत्तियों को रेखाकित कीजिये। Underline the chief trends of India’s foreign policy after 1947. [1996]

Click here for answer

स्वतंत्र भारत के प्रथम महानिवाचन का संक्षिप्त आलोचनात्मक विवरण दीजिये । Give a brief critical account of the first general election of independent India. [1994]

Click here for answer

भारत के विभाजन के प्रश्न पर विभिन्न वामपंथी दलों के रुख का आलोचनात्मक विवरण दीजिये। Give a critical account of the attitudes of different left parties to the question of partition of India. [1994]

Click here for answer

स्वातंत्रोत्तर भारत की विदेश नीति के आधारभूत सिद्धान्त क्या है ? क्या यह सफल है ? What are the basic principles of it foreign policy of post Independent India? Is it successful? [1995]

Click here for answer

भारत के संविधान के निर्माण में भीमराव अम्बेडकर के योगदान का मूल्यांकन कीजिये। Assess the contribution of B.R. Ambedkar in the making of the Constitution of India. [1997]

Click here for answer

1950 और 1964 के मध्य भूमि सम्बन्धी प्रभु सुधारो का संक्षिप्त विवरण दीजिए । Bang a short account of principal agrarian reforms between 1950 and 1964. [2002]

Click here for answer

‘भारत की निर्गुट विदेश नीति’ पर आलोचनत्मक टिप्पणी लिखिए । Write critical notes on ‘Indian foreign policy of Non-alignment’ [2004]

OR

स्वतंत्रता के पशचात् भारत ने गुटनिरपकता की निति अपनाई और इसके विकास में महत्वपूर्ण योगदान दिया। इस कथन की विवेचना कीजिए। “After independence India adopted the policy of Non-Alignment and contributed to its development to a great extent.” Discuss this statement. [2016]

OR

‘गुट निरपेक्ष आन्दोलन’ पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिये। Write a critical note ‘The Non-aligned Movement’. [2004]

Click here for answer

स्वतन्त्रता के पश्चात् भारतीय रियासतों के एकीकरण की समस्या की आलोचनात्मक व्याख्या कीजिए। Analyze critically the problem of integration of the Indian (Princely) states after independence. [2004]

Click here for answer

भारत विभाजन पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिये। Write critical notes on Partition of India. [2006]

Click here for answer

पंचवर्षीय योजना पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिए। Write critical note on Five Year Plan  [2007]

Click here for answer

‘भारत के विभाजन के कारण’ पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिये। Write a critical note ‘Causes of India’s Partition’. [2004]

OR

1947 में कांग्रेस ने भारत का विभाजन क्यों स्वीकार कर लिया? Why did the Congress accept India’s-Partition in 1947. [1999]

OR

1947 में भारत का विभाजन किन परिस्थितियों में हुआ? What were the circumstances that led to the partition of India in 1947 ? [1995]

Click here for answer

माउन्टंबेटन-योजना की संक्षिप्त विवरण दीजिंये और उन परिश्थितियों का विश्लेषण कीजिये जिनमें भारत का विभाजन हुआ । Give a brief account of the Mount Batten Plan and discuss the circumstances which led to the partition of India. [1992]

Click here for answer

1942-47 के बीच उन परिस्थितियों का विश्लेषण कीजिए जिनके परिणामस्वरूप भारत विभाजित तथा स्वतंत्र हुआ। Analyse the circumstances between 1942-47 that led to the freedom and partition of India. [2016]

Click here for answer

क्या भारत का विभाजन अवश्यंभावी था ? Was the partition of India inevitable ? [2001]

OR

क्या भारत का विभाजन अपरिहार्य था ? पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिए। Write critical notes on ‘Was partition of India inevitable?’ [2008]

Click here for answer

नौसेना विद्वोह (1946) पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिये।  Write critical notes on Naval Mutiny [1946] [2008]

Click here for answer

भारत-विभाजन के परिणाम पर संक्षिप्त टिप्पणियाँ लिखिए। Write critical notes on consequences of India’s Partition. [2009]

Click here for answer

पंचशील के मुख्य सिद्धान्त पर आलोचनात्मक टिप्पणी लिखिए । Write critical notes on Main principles of the Panchasheel. [2011]

Click here for answer

संविधान सभा पर आलोचनात्मक टिपणी लिखिये। Write critical notes on Constitution Assembly [2013]

Click here for answer

1947 में देश के विभाजन से जनित आर्थिक प्रमाव की विवेचना कीजिए। Discuss the economic impact caused by country’s partition in 1947. [2015]

Click here for answer

भारतीय महिलाओं एंव अल्पसंख्यकों के अधिकारों के विशेष संदर्ष में 1950 के भारतीय संविधान के मुख्य स्वरूप की परीक्षण कीजिए। Examine the salient features of the Indian Constitution of 1950 with special reference to the rights of women and minorities. [2016]

Click here for answer

तेलंगाना विद्रोह पर एक निबंध लिखिए। Write an essay on the uprising of Telangana. [2016]

Click here for answer

Leave a Reply